जब चाहे दुनिया के सबसे अमीर आदमी बन सकते हैं टाटा, खुद की कंपनी में मजदूरों की तरह किया काम


जब चाहे दुनिया के सबसे अमीर आदमी बन सकते हैं टाटा, खुद की कंपनी में मजदूरों की तरह किया काम

जब चाहे दुनिया के सबसे अमीर आदमी बन सकते हैं टाटा, खुद की कंपनी में मजदूरों की तरह किया काम

News18Hindi

Updated: December 28, 2018, 12:30 PM IST

28 दिसंबर 1937 ये वो तारीख है जब भारत के सबसे बड़े और ईमानदार उद्योगपतियों में से एक रतन टाटा का जन्म हुआ था. रतन टाटा ने 1962 में टाटा समूह के साथ अपने करियर की शुरुआत की और फिर उसे दुनिया की सबसे बड़ी कंपनियों में शामिल करवाया. आपको बता दें रतन टाटा के पास बेशुमार दौलत है, लेकिन इसके बावजूद वो दुनिया के सबसे अमीर लोगों की लिस्ट में नहीं आते. हालांकि वो जब चाहें बिल गेट्स को पछाड़ सकते हैं, लेकिन वो ऐसा नहीं करते. आइए आपको बताते हैं इसकी वजह:

दरअसल रतन टाटा अपनी कमाई का 65 फीसदी हिस्सा दान कर देते हैं. उनकी कंपनी का जो भी प्रॉफिट होता है वो उसे समाज कल्याण के लिए दान कर देते हैं. ये पैसा उनकी निजी फाइनेंशियल स्टेटमेंट में दर्ज नहीं होता है. इसीलिए रतन टाटा की निजी संपत्ति 100 करोड़ से ऊपर नहीं जाती है.

रतन टाटा ने जब अपनी कंपनी से करियर शुरू किया तो वो चाहते तो अच्छी पोस्ट पर आ सकते थे, लेकिन फिर भी उन्होंने फैक्ट्री मजदूरों के साथ काम शुरू किया. कहते हैं कि वो इसके जरिए जानना चाहते थे कि आखिर मजदूरों की जिंदगी क्या है और उनके परिवार को इस बिजनेस को खड़ा करने में कितनी मेहनत लगी.

ये भी पढ़ें- Birthday Special | रतन टाटा ने ऐसे लिया था अपमान का बदलारतन टाटा अपनी निजी जिंदगी के बारे में ज्यादा कुछ नहीं बताते मगर कहते हैं कि उन्हें कारों का बहुत शौक है. इसी वजह से वो सारी लेटेस्ट मॉडल की कार अपने पास रखते हैं. रतन टाटा की फेवरेट कार फरारी है. इतना ही नहीं रतन टाटा को प्लेन उड़ाना भी आता है और बकायदा उनके पास इसका लाइसेंस भी है.

मुख्यमंत्री रघुवर दास के साथ रतन टाटा

बहुत कम लोगों को पता है कि झारखंड के मौजूदा मुख्यमंत्री रघुवर दास ने टाटा की फैक्ट्री में 17 सालों तक काम किया है. मुख्यमंत्री रघुवर दास 1978 से 1995 तक मुख्यमंत्री रघुवर दास रांची में मौजूद फैक्ट्री में मजदूरी करते थे.

और भी देखें



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »