पहली बार 'I LOVE YOU' कहना है, ऐसे करें खुद को तैयार


Web Title:

best way to say l love you

(Hindi News from Navbharat Times , TIL Network)

1/6

पहली बार ‘I LOVE YOU’कहना हो तो ये बातें ध्यान में रखें

पहली बार 'I LOVE YOU'कहना हो तो ये बातें ध्यान में रखें

किसी से प्यार करना तो हमारे वश में हैं लेकिन हमारे उस इमोशन को स्वीकार करना या ना करना जाहिर तौर पर दूसरे के अधिकार क्षेत्र की बात है। जैसे हम उम्मीद करते हैं कि हमारे फैसले का सम्मान होना चाहिए, ठीक वैसे ही दूसरा भी इस बात की उम्मीद हमसे करता है। लेकिन अपने मन की बात सही ढंग से दूसरे तक पहुंचाना एक आर्ट है ताकि प्रपोजल एक्सेप्ट होने के चांसेज बढ़ जाएं…

2/6

रियल लाइफ में नहीं है उतना एक्साइटिंग

रियल लाइफ में नहीं है उतना एक्साइटिंग

किसी को पसंद करना और उसे I Love You बोलना सोचने में जितना एक्साइटिंग होता सकता है, असल में उतना ना तो आसान होता है और ना ही एक्साइटिंग। क्योंकि हमारी लाइफ तीन घंटे की स्क्रिप्टेड मूवी नहीं है। इसलिए किसी के प्रति अपनी भावनाएं जाहिर करने से पहले उसे समझने का पूरा प्रयास करना चाहिए। साथ ही बेहतर होगा कि आप उसकी फीलिंग्स के बारे में भी पता लगा लें।

3/6

टाइमिंग मैटर करती है

टाइमिंग मैटर करती है

इससे ज्यादा जरूरी शायद कुछ नहीं, जब आपको पता होना चाहिए कि अपने दिल की बात कहने का सही मौका कौन-सा रहेगा। इस बात को दिमाग में रखें कि प्यार के मामले में कभी जल्दबाजी नहीं करनी चाहिए।

4/6

प्यार का शुरुआती दौर

प्यार का शुरुआती दौर

जब आप किसी प्रति आकर्षण महसूस करते हैं तो शुरुआती कुछ महीनों में दूसरे व्यक्ति की हर बात अच्छी लगती है, सबकुछ परियों की कहानी जैसा लगने लगता है। लेकिन कुछ वक्त बीत जाने के बाद उसी व्यक्ति का आदतें हमें बुरी आदत लगने लगती हैं। इसलिए मच्योरिटी के साथ आगे बढ़ने की जरूरत होती है। पूरा वक्त लें।

5/6

‘I Love You’ कहने का सही तरीका

'I Love You' कहने का सही तरीका

दुनिया में ऐसा कोई तरीका नहीं है, जिसके लिए कहा जा सके कि पहली बार अपना प्यार जाहिर करने के लिए यही परफेक्ट रहता है। गिफ्ट और फ्लॉवर के साथ अपनी बात करना कॉमन जरूर हो सकता है पर जरूरी नहीं परफेक्ट हो। वक्त और सिचुएशन के हिसाब से आप अपनी बात जाहिर कर सकते हैं। गिफ्ट और फूल महंगे हों ये जरूरी नहीं, भावनाएं सच्ची होनी चाहिए।

6/6

‘ना’ सुनने के लिए तैयार रहें

 'ना' सुनने के लिए तैयार रहें

प्यार जताने के लिए जितने साहस की जरूरत है, उतने ही साहस की जरूरत होती है ना सुनने के लिए। लेकिन इसके लिए खुद को तैयार रखना चाहिए। कोई हमारा प्रपोजल एक्सेप्ट नहीं कर रहा है तो ना तो वो हमारा दुश्मन हो जाता है और ना ही हमें उसके साथ बुरा बर्ताव करना चाहिए। यह उसकी अपनी पसंद पर निर्भर करता है।

FROM WEB

FROM NAVBHARAT TIMES



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »