kothari columnकुछ सावधानी भी जरूरी है अगर…-मेरी पत्नी 4 महीने की प्रेग्नेंट हैं। क्या मैं उनके स


NBT

kothari column

कुछ सावधानी भी जरूरी है अगर…

-मेरी पत्नी 4 महीने की प्रेग्नेंट हैं। क्या मैं उनके साथ सहवास कर सकता हूं?

-एक पाठक

प्रेग्नेंसी एक सामान्य अवस्था है। इस दौरान जब चाहे महिला सहवास कर सकती हैं, इससे कोई नुकसान नहीं होता। लेकिन कुछ विशेष परिस्थितियों में ध्यान रखना पड़ता है। हां, अगर किसी महिला का पूर्व में किसी प्रेग्नेंसी के शुरुआती 3 महीनों में अपने आप अबॉर्शन हुआ हो तो उस महिला को नई प्रेग्नेंसी के पहले तीन महीनों में सहवास नहीं करना चाहिए। वहीं अगर किसी महिला को इन्कम्पिटेंट ऑस (गर्भाशय के मुंह की परेशानी) की समस्या रही हो तो उसे 3 से 6 महीने के बीच में सहवास नहीं करनी चाहिए। वहीं 6 से 9 महीने के दौरान भी उसे यह ध्यान रखना चाहिए कि सहवास के दौरान पॉजिशन ऐसी हो कि पुरुष का सीधा वजन महिला के गर्भ में पल रहे बच्चे पर न आए। ऐसे में साइड-टु-साइड पॉजिशन या फिर महिला ऊपर और पुरुष नीचे वाली स्थिति में सहवास करना सही रहता है। अगर सबकुछ सामान्य है तो प्रेग्नेंसी के दौरान आखिरी दिन तक सहवास कर सकते हैं।

नोट: प्रेग्नेंसी के दौरान ब्लीडिंग या ऐंजाइटी हो तो सहवास से दूर रहें। अगर डॉक्टर ने महिला को सहवास करने से मना किया है तो सहवास ही नहीं, मैस्टरबेशन या किसी दूसरे तरीके से भी महिला को क्लाइमैक्स पर नहीं पहुंचाना चाहिए क्योंकि मैस्टरबेशन में गर्भाशय का संकुचन (कंट्रेक्शन) सहवास की तुलना में बहुत ज्यादा होता है। सहवास से संबंधित किसी भी निर्णय पर पहुंचने से पहले अपने गाइनी डॉक्टर की सलाह जरूर लें।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »