इमरान की पार्टी के पूर्व विधायक बोले- पाक में मुसलमान सुरक्षित नहीं तो सिख कैसे महफूज रह सकते हैं










  • तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी के भूतपूर्व विधायक हैं बलदेव कुमार, भारत में राजनीतिक शरण लेना चाहते हैं
  • कुमार के मुताबिक- पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों के साथ अच्छा व्यवहार नहीं किया जाता है
  • कुमार के अनुसार- गुरुद्वारों में केवल वो लोग काम करते हैं जो पाक एजेंसियों के इशारों पर काम करते हैं

Dainik Bhaskar

Sep 10, 2019, 07:14 PM IST

खन्ना (पंजाब). पाक प्रधानमंत्री इमरान खान की पार्टी तहरीक-ए-इंसाफ के भूतपूर्व विधायक बलदेव कुमार ने मंगलवार को कहा कि पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों के साथ अच्छा व्यवहार नहीं होता है। यहां जब मुसलमान ही सुरक्षित नहीं है तो फिर मेरे जैसे सिख खुदको सुरक्षित कैसे मान सकते हैं।खैबर पख्तूनख्वां से विधायक रह चुके बलदेव परिवार समेत भारत में राजनीतिक शरण चाह रहे हैं।

पाकिस्तान से कई परिवार भारत आना चाहते हैं: कुमार

  1. कुमार ने बताया, ‘‘बैसाखी के दौरान जो जत्था भारत से आया था, उन्हें कमरे तक मुहैया नहीं करवाए गए थे। उन्हें बाहर बैठाया गया था। मैं उन 12 सरदारों के लिए केयरटेकरों से लड़ा भी था कि उन्हें कमरे दिलाएं। हालांकि वे नहीं चाहते थे कि उनके नाम सामने आए और पाकिस्तान में उनके लिए मुसीबत बढ़े।’’

  2. इमरान पर कुमार ने कहा, ‘‘खान साहब नए पाकिस्तान की बात कर रहे हैं। मैं कहता हूं कि पुराना पाकिस्तान नए से ज्यादा बेहतर था। वे भारत में अल्पसंख्यकों के हालात पर बात कर रहे हैं मगर उनके देश में क्या हालात है, इस पर उनका ध्यान नहीं।’’

  3. कुमार के अनुसार, ‘‘सबकुछ पाकिस्तानी सेना के द्वारा किया जाता है। इमरान खान का कोई रोल नहीं है। खान ने वादा किया था कि मैं किसी भी पूर्व विधायक, मंत्री, सांसद को अपने साथ नहीं लूंगा। अब सारे चोर उनकी पार्टी में हैं।’’

  4. कुमार के मुताबिक, ‘‘पाकिस्तान के कई परिवार भारत जाना चाहते हैं। उन्हें उम्मीद है कि नरेंद्र मोदी सरकार और पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह इस बारे में मदद करेंगे। यहां जो लोग पाकिस्तानी एजेंसियों के इशारों पर नाचते हैं, केवल वहीं लोग गुरुद्वारों में काम कर रहे हैं।’’

  5. कुमार ने कहा, ‘‘मैं मोदी सरकार से खुश हूं। वे बिल्कुल बब्बर शेर की तरह काम कर रहे हैं। पंजाब के मुख्यमंत्री भी अच्छा काम कर रहे हैं। मुझे पंजाब के मुख्यमंत्री के पीए का फोन आया था। उन्होंने कहा था कि मुझे जो भी मदद चाहिए, बताएं।’’


     


    DBApp


     


‘);$(‘#showallcoment_’+storyid).show();(function(){var dbc=document.createElement(‘script’);dbc.type=’text/javascript’;dbc.async=false;dbc.src=’https://i10.dainikbhaskar.com/DBComment/bhaskar/com-changes/feedback_bhaskar_v2.js?vm20′;var s=document.getElementsByTagName(‘script’)[0];s.parentNode.insertBefore(dbc,s);dbc.onload=function(){setTimeout(function(){callSticky(‘.col-8′,’.col-4′);},2000);}})();}else{$(‘#showallcoment_’+storyid).toggle();callSticky(‘.col-8′,’.col-4′);}}

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »