आंध्र प्रदेश : 74 साल की महिला ने दिया जुड़वा लड़कियों को जन्म, पति की उम्र 80 साल


आंध्र प्रदेश : 74 साल की महिला ने दिया जुड़वा लड़कियों को जन्म, पति की उम्र 80 साल

एक 74 वर्षीय महिला ने गुरुवार को आंध्र प्रदेश (Andhra Pradesh) के गुंटूर जिले में इन-विट्रो फर्टिलाइजेशन यानि आईवीएफ के माध्यम से जुड़वां लड़कियों (Twins Baby) को जन्म दिया। पूर्वी गोदावरी जिले के द्रक्षरमम ब्लॉक के नेल्लारथिप्पडु गांव के 80 वर्षीय ई राजा राव की पत्नी एरमति मंगयम्मा ने कोथपेट के अहल्या अस्पताल में लगभग 10:30 बजे जुड़वा बच्चों को जन्म दिया।

# खूबसूरती की वजह से कटा महिला का चालान, घटना बेहद चौकाने वाली

# अंधविश्वास : अस्पताल में तंत्र-मंत्र, हाथों में तलवार लेकर आत्मा लेने पहुंचे परिजन

अस्पताल के निदेशक डॉ सनकय्याला उमाशंकर ने बच्चों की जांच की। उन्होंने बताया कि सर्जरी आसानी से हो गई। मां और शिशु दोनों स्वस्थ हैं और किसी भी तरह की परेशानी नहीं हैं। हालांकि, मां को पिछले कुछ घंटों से झेलने वाले तनाव से बाहर लाने के लिए आईसीयू में ले जाया गया है। उमाशंकर ने इसे एक दुर्लभ मामला बताते हुए कहा कि मंगयम्मा को अपनी उम्र में भी गर्भधारण करने और बच्चों को जन्म देने में कोई समस्या नहीं थी क्योंकि उन्हें मधुमेह और उच्च रक्तचाप जैसी कोई बीमारी नहीं थी।

# आखिर शराब की बोतल क्यों रखी जाती हैं हरे और भूरे रंग की, जानें इसके पीछे का राज

# यहाँ महिलाएँ नहीं पुरुष है बेबस, मर्दों को निकालना पड़ता है घूंघट

उन्होंने कहा, मुझे नहीं लगता कि प्रसव के बाद की अवधि में उन्हें कोई बड़ी स्वास्थ्य समस्या होगी। हालांकि, वह बच्चों को स्तनपान नहीं करा सकती है। लेकिन कोई चिंता की बात नहीं है। हम दूध बैंक से प्राप्त दूध के साथ शिशुओं को खिला सकते हैं।

उन्होंने बताया कि मंगायम्मा और राजा राव, जो एक किसान हैं, ने 22 मार्च 1962 को शादी की और पिछले 57 वर्षों से संतानहीन थे। वह कई अस्पतालों का दौरा करने के बाद भी गर्भ धारण करने के अपने प्रयासों में सफल नहीं हो सकी। लगभग 25 साल पहले मेनोपॉज के बाद भी, उन्हें मां बनने की इच्छा थी।

# अंतिम संस्कार की ये परम्पराएं रूह कंपा देने वाली, कर देती है सोचने पर मजबूर

# आम के पत्तों से बनी शराब, जो डायबिटीज के साथ-साथ आपके फैट भी घटाएगी



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »